2030 तक चांद और अंतरिक्ष में बनी कॉलोनी में रहेगा इंसान

Advertisement
एजेंसी। प्रदूषण, पानी, सड़क, जाम और एक अच्छे घर की तलाश, ना जानें कितनी ही परेशानियां हैं जो हम लोगों को रोजाना घेरे रखती है. पर जापान की पहली अंतरिक्ष यात्री मुकाई की मानें तो यह सारी परेशानियां धरती पर बस कुछ और दिन ही रहने वाली हैं. 500 घंटे से ज्यादा अंतरिक्ष में बिता चुकी चिआकी मुकाई स्पेस में क़ॉलोनी बनाने के प्रोजेक्ट पर काम कर रही हैं. 30 सदस्यों वाली यह टीम टोक्यो यूनिवर्सिटी ऑफ साइंस की हाई-टेक लैब में इन दिनों इस बात का अध्ययन कर रहीं हैं कि आखिरकार भविष्य में एक इंसान को चांद और मंगल पर कैसे जिंदा रखा जाए.


      इतना ही नहीं मुकाई भविष्य में स्पेस में एक कॉलोनी के निर्माण पर भी काम कर रही हैं.
मुकाई का कहना है, ‘हम सब लोगों के लिए धरती अब छोटी पड़ने लगी है, इसलिए जरूरी है कि किसी ऐसे ग्रह की तलाश की जाए जहां पर इंसान आसानी से रह सके. उन्होंने कहा कि अंतरिक्ष में जीवन की संभावनाओं को खंगालने का चरण अब नए दौर में पहुंच चुका है.
मुकाई ने दावा किया है कि साल 2030 तक चंद्रमा पर कॉलोनी स्थापित की जा सकेगी. इसके साथ की उनकी टीम अंतरिक्ष में भोजन बनाने और फसल पैदा करने के नए तरीके पर जोर दे रही है. उन्होंने कहा कि इस प्रक्रिया के लिए एक खारे सॉल्यूशन में हाई वोल्टेज बिजली सप्लाई कर तरल प्लाज्मा तैयार किया जाएगा, जिसका प्रयोग खाने की चीजें पैदा करने के लिए किया जा सकेगा.
Humans-will-remain-in-the-moon-and-space-colony-until-2030-2030 तक चांद और अंतरिक्ष में बनी कॉलोनी में रहेगा इंसान


Advertisement
रहें हर खबर से अपडेट आशा न्यूज़ के साथ

रहें हर खबर से अपडेट आशा न्यूज़ के साथ

और पढ़े
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Advertisement
Back to top button
error: