मोदी, केजरीवाल की मिमिक्री कर ट्रेन में खिलौने बेचने वाला शख्स गिरफ्तार

Advertisement
वेब डेस्क।  ट्रेन में मज़ाकिया अंदाज़ में खिलौने बेचने वाले एक शख़्स का वीडियो वायरल होने के बाद पुलिस ने उसे गिरफ़्तार कर लिया है. अवधेश दुबे नाम के इस शख़्स का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया था, जिसमें वह राजनीतिक मसलों पर हंसी-मज़ाक करते हुए ट्रेन में खिलौने बेचते दिख रहे थे. उनके चुटकुलों में कई राजनीतिक संदर्भ थे और भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और सपा नेता मुलायम सिंह यादव का नाम भी लिया गया था.
         रेलवे पुलिस इंस्पेक्टर ईश्वर यादव ने बताया कि अवधेश को गिरफ़्तार किया गया है, लेकिन उन्हें किसी वायरल वीडियो के मामले में नहीं बल्कि उन्हें ट्रेन में अनाधिकृत रूप से सामान बेचने के मामले में गिरफ़्तार किया गया है. शुक्रवार सुबह लगभग 9.30 बजे उन्हें सूरत-वापी रूट की ट्रेन में सामान की बिक्री करते पकड़ा गया.  उन्हें रेलवे कोर्ट में पेश किया गया जहां से उन्हें 10 दिन के लिए जेल भेज दिया गया है.
     इंस्पेक्टर यादव ने साफ़ किया कि ये बेहद आम मामला है. उन्होंने कहा, “हम हर रोज़ चार-पांच लोगों की गिरफ़्तारी करते हैं, जिन्हें 30 दिन तक की सज़ा होती है.”

 

क्या है वायरल वीडियो में

इसी हफ्ते एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था जिसमें अवधेश दुबे कार्टून किरदार डोरेमॉन से लेकर, राहुल गांधी, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अरविंद केजरीवाल जैसे नेताओं पर मज़ाकिया टिप्पणी करते हुए खिलौने बेचता दिख रहा है. सोशल मीडिया पर इस वीडियो को लाखों बार देखा जा चुका है और कुछ लोग अवधेश को बेहतरीन ‘सेल्समैन’बता रहे हैं.
इस वीडियो में इन पंचलाइन के इस्तेमाल से अवधेश खिलौने बेच रहे हैं.
  • नेता हो तो मोदी जैसा, मुलायम तो तकिया भी होता है.
  • जियो का डेटा और सोनिया का बेटा, दोनों सिर्फ मनोरंजन के काम आते हैं. 2024 तक ख़ुद इटली नहीं गए तो यहीं पर इडली बेचना पड़ेगा.
  • लेडीज़ और औरत में अंग्रेज़ी और हिंदी का फ़र्क है. जैसे बराक ओबामा और मोदी में.
  • खिलौना चाहिए बेटा? उधर जाकर अच्छे से रोओ ना, पापा दिला देंगे.
  • और क्या चिपकाऊं साहब आपको?
  • मेरा नाम है अवधेश दुबे, देखे नहीं, पांच-छह जन तो इधर ही ले डूबे.
  • विजय माल्या के नाम में ही प्रॉब्लम था. विजय माल लिया.

 

अवधेश की गिरफ़्तारी की ख़बर आने के बाद सोशल मीडिया पर कई लोगों ने इसका विरोध किया. इस मामले में अवधेश दुबे का परिवार मीडिया से ख़ासा नाराज़ है. हमने सूरत में ही रहने वाले अवधेश के चाचा संतोष दुबे से बात की. उनका कहना है कि ऐसा नहीं है कि वीडियो में सुनाए गए चुटकुलों की वजह से अवधेश को गिरफ़्तार किया गया है. उन्होंने कहा कि ट्रेन में सामान बेचना ग़ैरकानूनी तो है ही और इस तरह की धर-पकड़ होती रहती है.
     उन्होंने कहा, “क़ायदे कानून को कोई टाल नहीं सकता. ग़लती तो हुई है. अगर मीडिया ये वीडियो इस तरह नहीं दिखाता तो शायद प्रशासन इतनी सख़्ती नहीं दिखाता. प्रशासन को लगा कि ये लोग रेलवे को मज़ाक़ समझ रहे हैं.” वह कहते हैं कि प्रशासन का काम ही बेचने वालों को पकड़कर केस बनाते रहना है और ऐसा बहुत लोगों के साथ हो चुका है.

देखे लाइव वीडियो 

Advertisement

Advertisement

Advertisement


Advertisement
रहें हर खबर से अपडेट आशा न्यूज़ के साथ

रहें हर खबर से अपडेट आशा न्यूज़ के साथ

और पढ़े
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Advertisement
Back to top button
error: